xpornplease.com pornjk.com porncuze.com porn800.me porn600.me

ट्रेन के पटरी पर मजदूरों को सोना पड़ा भारी, 16 मजदूरों की गई जान, प्रधानमंत्री सहित देश दुखी

प्रगति सिंह (महाराष्ट्र) कोरोना वायरस के कहर से पूरे भारत मे लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है और रोजगार ठप हो गये इसकी सबसे अधिक मार गरीब मजदूरों पर पड़ी है. लॉकडाउन की वजह से काम बंद हुआ तो लाखों की संख्या में मजदूर जहां थे, वहीं रुकने को मजबूर हो गए कुछ ज्यादा दिन नहीं रुक पाए तो पैदल ही घर के लिए रवाना हो गए. करीब 16 मजदूर जो महाराष्ट्र जालना से मध्यप्रदेश अपने अपने घर पहुंचने की आस में पैदल ही रवाना हुए थे। परन्तु दुर्भाग्य उन्हें ट्रेन के पटरी पर ही सुला दिया और माल गाड़ी के चपेट में आ जाने से मृत हो गए। सबसे बड़ी दुखद बात ये है कि सरकार और सरकारी विदेशों से लोगो को ला रही है और यही प्रदेश से प्रदेश में आम जनता फस कर मर रहे है और एक प्रदेश से दूसरे प्रदेश जाने को बेताब है। कईयों ने तो लंबे सड़क को अपने कदमों से नाप दिया परन्तु ये ग़लत है हम आम जनता को इस वैश्विक महामारी के दौर में अपने आप को किसी भी तरह समहलाना ही है।
औरंगाबाद जलाना रूूट के रेल हादसे से पूरा देश दुखी है और इस हादसे के बाद अब रेल मंत्रालय की ओर से जांच के आदेश दिए गए हैं,। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल पर हादसे में मााा गए लोगों के लिए दुख व्यायक्ति किया है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है, साथ ही घायलों के इलाज पर नज़र रखी जा रही है।

देश के कई हिस्सों से इन दिनों ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जहां पैदल ही घर जा रहे मजदूरों के साथ कोई हादसा हुआ है या फिर उन्होंने भूख-प्यास की वजह से दम तोड़ दिया है. एक ओर कोरोना का कहर और दूसरी ओर इस तरह गरीब मजदूरों पर आई आफत से हर कोई चिंतित है.

फोटो सोशल मीडिया

2 thoughts on “ट्रेन के पटरी पर मजदूरों को सोना पड़ा भारी, 16 मजदूरों की गई जान, प्रधानमंत्री सहित देश दुखी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

https://www.amazon.com/dp/B086W65SLM